‘मन की बात’ ने मोह लिया मन

DOG LOVERS के लिए बेहद खास रही मोदी के ‘मन की बात’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मन की बात’ के जरिए आज देश उन बेजुबानों के बारे में जान सका जिन्होंने देश की सेवा करते करते अपनी जान कुर्बान कर दी। वरना बलराम, भावना और क्रैकर के बारे में कौन बात करता कभी इस देश में। जहां इंसान इंसान की तारीफ करने..उसे मान्य सम्मान देने से कतराता है ऐसे में भला जानवरों को वाजिब श्रेय मिले..कहां संभव है। देश के पीएम के मुंह से रॉकी की प्रशंसा उस सम्मान से बड़ी है जो उसके विभाग ने उसकी मौत पर उसे दिया। जिस रॉकी ने 300 से ज्यादा केसों को सुलझाने में पुलिस की मदद की देश सेवा में अपना जीवन बिताया। शोफी और विदा के बारे में देश जान सका जो भारतीय सेना के महत्वपूर्ण अंग है, जो मुस्तैदी से सरहदों की सुरक्षा कर रहे हैं।

 जिस तरह से प्रधानमंत्री ने अपने विशेष कार्यक्रम में चार से ज्यादा मिनट डॉग्स की बात की, सराहनीय है। सोशल मीडिया पर डॉग्स प्रेमियों के बीच आज दिनभर ये चर्चा का विषय बना रहा।

आम नागरिक आम से खास बन रहे देसी नस्ल के कुत्तों के बारे में जान सका। किस तरह इंडियन ब्रीड के मुधोल हाउंड डॉग्स भारतीय सेना में मुख्य भूमिका में बहाल किए जा रहे हैं। NDRF यानी राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल की पसंद बनते जा रहे है। कोम्बाई ने सेन्ट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स में अपनी विशिष्ट जगह बनाई है।   

इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने हिमाचली हाउंड, राजपलायम, कन्नी, चिप्पीपराई आदि नस्ल के डॉग्स का जिक्र किया। लोगों को इन्हें अपने घरों में पालने की सलाह दी, इनकी खुबियों के बारे बताया, ताकि विदेशी नस्ल के कुत्तों के पीछे लोगों का पागलपन कम हो, भारतीय नस्ल के कुत्तों को देश का प्यार और पहचान मिल सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here