कोरोना के बढ़ते मामलों ने बढ़ाई चिंता

दिल्ली में एक फिर कोरोना के मामले बढ़ते दिख रहे हैं। पिछले काफी दिनों से रोजाना संक्रमण के आंकड़े हजार के काफी नीचे रहे, लेकिन दो दिन से ये हजार का आंकड़ा पार करते दिख रहे हैं। इसको देखते हुए दिल्ली सरकार ने कमर कस ली है। सरकार ने तय किया है कि आने वाले दिनों में कोरोना टेस्ट की संख्या डबल कर दी जाए। अभी जहां 20 हजार टेस्ट किए जा रहे हैं, इसे बढ़ा कर रोजाना 40 हजार टेस्ट कर दिए जाएंगे। साथ ही कोरोना से ठीक हो रहे लोगों की मॉनिटरिंग बढ़ाई जाएगी। ऐसा देखा जा रहा है कि जो मरीज ठीक होकर घर वापस आ रहे हैं उन्हें भी स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसे ध्यान में रखते हुए दिल्ली सरकार ने तय किया है कि उन्हें भी ऑक्सीमीटर देगी और जरूरत पड़ने पर उनके घर पर ही ऑक्सीजन कॉन्संट्रेटर का इंतजाम करेगी।

हालांकि दिल्ली सरकार की तरफ से बताया जा रहा है कि कोरोना के केसेज तो बढ़ रहे हैं लेकिन बाकि पैरामीटर नियंत्रण में हैं। रिकवरी रेट 90 प्रतिशत से उपर है और मौत के आंकड़ों में लगातार कमी आ रही है।

कोरोना के बढ़ते मामलों पर विचार करने के लिए मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक बुलाई गई। जिसमें स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन, मुख्य सचिव और स्वास्थ्य मंत्रालय के सीनियर अधिकारी मौजूद रहे। बैठक में कोरोना संक्रमण पर फिर से लगाम कसने के लिए जरूरी फैसले लिए गए। लोगों में कोरोना के प्रति बढ़ती लापरवाही को देखते हुए दिल्ली में एनफोर्समेंट को और अधिक सख्त करने के आदेश दिए गए हैं।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की जनता से निवेदन किया है कि घर से बाहर निकलते समय मास्क जरूर पहने, लापरवाही बिल्कुल न बरतें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here